महाविद्यालय एक दृष्टि में ...

बाबू बृजबिहारी सिंह महाविद्यालय सहजवलिया, सिकटा, कुशीनगर का स्थापना दिवस जूलाई 2016 है। महाविद्यालय का उदय क्षेत्रीय जनमानस के विशेष आग्रह को स्वीकार करते हुए माननीय प्रबन्धक श्री देवदत्त सिंह जी ने संकल्प लिया तथा धर्म रूपी पुरूषार्थ को मूर्त रूप देने हेतु इसकी स्थापना की। क्योंकि यह क्षेत्र अत्यन्त पिछड़ा है। अशिक्षा को देखते हुए प्रबन्धक के निर्णय की क्षेत्रीय जनमानस ने स्वागत किया। यह महाविद्यालय जिला मुख्यालय कुशीनगर से 8 किमी0 कुबेरस्थान रोड पर स्थित है। महाविद्यालय में क्षेत्र के समस्त छात्र/छात्राएं सुगम रूप से शैक्षिक वातावरण में शिक्षा ग्रहण करने आते है, विशेषकर वे छात्राएं जो दूर स्थित महाविद्यालयों में न जा पाने के कारण उच्च शिक्षा से वंचित रह जाती थी, उनके लिए यह महाविद्यालय वरदान सावित हुआ है। महाविद्यालय में संचालित बी0ए0/बी0एस-सी0 एवं डी0एल0एड0, कम्प्युटर कोर्स जैसे- सी0सी0सी0, ओ0 लेवल आदि डिप्लोमा कोर्स व स्ट्रीय सेवा योजना (छण्ैण्ैण्) की कक्षाएं अनवरत चलायमान है। योग्य एवं अनुभवी शिक्षाकों द्वारा प्राप्त शिक्षा से सभी छात्र छात्राएं लाभान्वित हो रहे है। महाविद्यालय में दी जाने वाले सुविधाओं में मानक के अनुसार कमरे, खिड़किया, क्रिड़ा क्षेत्र, बिजली, स्वच्छ पेयजल तथा मेधावी छात्र/छात्राओं को पुरस्कृत करना आदि की समस्त सुविधा उपलब्ध है। ग्रामीण अंचल में महाविद्यालय के हो जाने से आज क्षेत्र की सभी बालक/बालिकाएं उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे है। जिससे क्षेत्र में खुशी की लहर व्याप्त रहती है।

प्रबन्धक संदेश-

महाविद्यालय में प्रवेश लेने वाले छात्र व छात्राओं से हमारा आग्रह है कि वे उच्च शिक्षा को ग्रहण करने के साथ-साथ संस्कार का भी पालन करें साथ ही अपने शिक्षको व माता-पिता एव समस्त श्रेष्ट जन का आदर एव सम्मान करते हुये ईमानदारी, निष्ठा, परिश्रम एव कर्तव्यबोध को आधार स्तम्भ बनाकर अपने जीवन के लक्ष्य को प्राप्त करें । आप सबको मेरी यही शुभकामना है कि आप सब जीवन के प्रत्येक परीक्षा में उतीर्ण हो समाज राष्ट्र का निमार्ण में सहभागी हो व आत्मिक शांति एव समृद्धि प्राप्त करें ।

फोटो गैलरी...